BHAAV SAMADHI VICHAAR SAMADHI KAKA BHAJANS

BHAAV SAMADHI VICHAAR SAMADHI - Hindi BHAJAN

Hymn No. 4979 | Date: 09-Oct-1993
   Text Size Increase Font Decrease Font

कहाँ से मैं कहाँ पहुँच गया, ना पता मुझे उसका चला

  Audio

Kahaan Se Main Kahaan Pahunch Gaya, Na Pata Mujhe Usaka Chala

જીવન માર્ગ, સમજ (Life Approach, Understanding)


1993-10-09 1993-10-09 https://www.kakabhajans.org/bhajan/default.aspx?id=479 कहाँ से मैं कहाँ पहुँच गया, ना पता मुझे उसका चला कहाँ से मैं कहाँ पहुँच गया, ना पता मुझे उसका चला
देखा राह जिस दिन का, चला ना पता, कब आकर कब चला गया?
हुआ कैसे हुआ, पता ना चला, जीवन में वह तो कैसे हुआ?
दुख भी आया, सुख भी आया, अपनी-अपनी याद वह दे गया।
एहसास दिल में दर्द का हुआ, कभी रुका, कभी वह चला गया।
जीवन ने मुझे तो दिया, कुछ तो लिया, फिर भी खाली रह गया।
थी कोशिश तो शुरु, जहाँ पहुँचना था, रुका कैसे, पता ना चला।
विपरीत भाव दिल में जागे कैसे, टिके कैसे, ना उसका पता चला।
रह-रहकर आयी याद उनकी, आयी कैसे, ना उसका पता चला।
https://www.youtube.com/watch?v=c8fLGMRAAFM
Hindi Bhajan no. 4979 by Satguru Devendra Ghia - Kaka
कहाँ से मैं कहाँ पहुँच गया, ना पता मुझे उसका चला
देखा राह जिस दिन का, चला ना पता, कब आकर कब चला गया?
हुआ कैसे हुआ, पता ना चला, जीवन में वह तो कैसे हुआ?
दुख भी आया, सुख भी आया, अपनी-अपनी याद वह दे गया।
एहसास दिल में दर्द का हुआ, कभी रुका, कभी वह चला गया।
जीवन ने मुझे तो दिया, कुछ तो लिया, फिर भी खाली रह गया।
थी कोशिश तो शुरु, जहाँ पहुँचना था, रुका कैसे, पता ना चला।
विपरीत भाव दिल में जागे कैसे, टिके कैसे, ना उसका पता चला।
रह-रहकर आयी याद उनकी, आयी कैसे, ना उसका पता चला।
सतगुरू देवेंद्र घिया (काका)

Lyrics in English
kahām̐ sē maiṁ kahām̐ pahum̐ca gayā, nā patā mujhē usakā calā
dēkhā rāha jisa dina kā, calā nā patā, kaba ākara kaba calā gayā?
huā kaisē huā, patā nā calā, jīvana mēṁ vaha tō kaisē huā?
dukha bhī āyā, sukha bhī āyā, apanī-apanī yāda vaha dē gayā।
ēhasāsa dila mēṁ darda kā huā, kabhī rukā, kabhī vaha calā gayā।
jīvana nē mujhē tō diyā, kucha tō liyā, phira bhī khālī raha gayā।
thī kōśiśa tō śuru, jahām̐ pahum̐canā thā, rukā kaisē, patā nā calā।
viparīta bhāva dila mēṁ jāgē kaisē, ṭikē kaisē, nā usakā patā calā।
raha-rahakara āyī yāda unakī, āyī kaisē, nā usakā patā calā।




First...49764977497849794980...Last
Publications
He has written about 10,000 hymns which cover various aspects of spirituality, such as devotion, inner knowledge, truth, meditation, right action and right living. Most of the Bhajans are in Gujarati, but there is also a treasure trove of Bhajans in English, Hindi and Marathi languages.
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall