BHAAV SAMADHI VICHAAR SAMADHI KAKA BHAJANS

BHAAV SAMADHI VICHAAR SAMADHI - Hindi BHAJAN

Hymn No. 7022 | Date: 28-Sep-1997
   Text Size Increase Font Decrease Font

जिंदादिली का नाम तो है जिंदगानी, जिंदादिली से जीवन जी ले

  No Audio

Jindadili Ka Naam To Hai Jindgaani , Jindadili Se Jivan Ji Le

જીવન માર્ગ, સમજ (Life Approach, Understanding)


1997-09-28 1997-09-28 https://www.kakabhajans.org/bhajan/default.aspx?id=15011 जिंदादिली का नाम तो है जिंदगानी, जिंदादिली से जीवन जी ले जिंदादिली का नाम तो है जिंदगानी, जिंदादिली से जीवन जी ले
देख रहा है राह क्यों तू किस्मत की, किस्मत को तेरे पीछे दौड़ने दे।
हर मुसीबतों को आसान बना दे, घबरा ना तू मुसीबतों से
करना है जो जो तुझे, हिम्मत से कर ले, ना की प्रभु पर तू छोड़ दे।
बसने ना देना कपट को दिल में इसके लिये दरवाजा सब बंद कर ले
लेना ना कदम तू पीछे, जो बढाया आगे सोच के कदम आगे बढ़ा ले।
भरी है शक्ति तो तेरे में, तेरी शक्ति का सही उपयोग तू कर ले
तेरे कारण ना जग तो रुकेगा, रुकना नही है तुझे ज़िंदगी में
मंज़िल है तेरी पाना है तुझे, जीवन में मंज़िल को हासिल कर ले।
क्या पाया, क्या खोया, ज़िंदगी में एक बार हिसाब तू कर ले।
Hindi Bhajan no. 7022 by Satguru Devendra Ghia - Kaka
जिंदादिली का नाम तो है जिंदगानी, जिंदादिली से जीवन जी ले
देख रहा है राह क्यों तू किस्मत की, किस्मत को तेरे पीछे दौड़ने दे।
हर मुसीबतों को आसान बना दे, घबरा ना तू मुसीबतों से
करना है जो जो तुझे, हिम्मत से कर ले, ना की प्रभु पर तू छोड़ दे।
बसने ना देना कपट को दिल में इसके लिये दरवाजा सब बंद कर ले
लेना ना कदम तू पीछे, जो बढाया आगे सोच के कदम आगे बढ़ा ले।
भरी है शक्ति तो तेरे में, तेरी शक्ति का सही उपयोग तू कर ले
तेरे कारण ना जग तो रुकेगा, रुकना नही है तुझे ज़िंदगी में
मंज़िल है तेरी पाना है तुझे, जीवन में मंज़िल को हासिल कर ले।
क्या पाया, क्या खोया, ज़िंदगी में एक बार हिसाब तू कर ले।
सतगुरू देवेंद्र घिया (काका)

Lyrics in English
jindadili ka naam to hai jindagani, jindadili se jivan ji le
dekha raah hai raah kyom tu kismata ki, kismata ko tere pichhe dauda़ne de|
haar musibatom ko asana bana de, ghabara na tu musibatom se
karana hai jo jo tuje, himmata se kara le, na ki prabhu paar tu chhoda़ de|
basane na dena kapata ko dila me isake liye daravaja saba banda kara le
lena na kadama tu pichhe, jo badhaya age socha ke kadama age badha़a le|
bhari hai shakti to tere mem, teri shakti ka sahi upayog tu kara le
tere karana na jaag to rukega, rukana nahi hai tuje ja़indagi me
manja़ila hai teri pan hai tuje, jivan me manja़ila ko hasila kara le|
kya paya, kya khoya, ja़indagi me ek bara hisaab tu kara le|




First...70167017701870197020...Last
Publications
He has written about 10,000 hymns which cover various aspects of spirituality, such as devotion, inner knowledge, truth, meditation, right action and right living. Most of the Bhajans are in Gujarati, but there is also a treasure trove of Bhajans in English, Hindi and Marathi languages.
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall