BHAAV SAMADHI VICHAAR SAMADHI KAKA BHAJANS

BHAAV SAMADHI VICHAAR SAMADHI - Hindi BHAJAN

Hymn No. 7600 | Date: 14-Sep-1998
   Text Size Increase Font Decrease Font

कर बुलंद अंतस की आवाज को इतना बंदे, खुदा के पास वह सीधा पहुँचे

  No Audio

Kar Buland Ants Se Ki Aawaj Ko Itna Bande, Khuda Ke Paass Vah Sidhaa Pahuche

જીવન માર્ગ, સમજ (Life Approach, Understanding)


1998-09-14 1998-09-14 https://www.kakabhajans.org/bhajan/default.aspx?id=17587 कर बुलंद अंतस की आवाज को इतना बंदे, खुदा के पास वह सीधा पहुँचे कर बुलंद अंतस की आवाज को इतना बंदे, खुदा के पास वह सीधा पहुँचे
तेरी मस्ती भरी अंतस की दुनिया में, गम की आवाज को ना पहुँचने दे।
जब भी चाहे, जी भर-भर के तू दिल में खुदा का संग तो कर ले,
तेरे दिल की दुनिया का, खुदा को तो आशिक पूरा बना ले।
तेरी ही दुनिया में, तेरी इजाजत बिना अन्य का प्रवेश बंद तू कर दे,
आखिर तक तेरी दुनिया में साथ देने वालों का संग तू बना ले।
हर हाल में खुश तू रहना, खुशी का आधार ना किसी पर छोड़ ले
तेरी खुशी, तेरी खामोशी पर है खुदा की निगरानी यकीन रख ले।
Hindi Bhajan no. 7600 by Satguru Devendra Ghia - Kaka
कर बुलंद अंतस की आवाज को इतना बंदे, खुदा के पास वह सीधा पहुँचे
तेरी मस्ती भरी अंतस की दुनिया में, गम की आवाज को ना पहुँचने दे।
जब भी चाहे, जी भर-भर के तू दिल में खुदा का संग तो कर ले,
तेरे दिल की दुनिया का, खुदा को तो आशिक पूरा बना ले।
तेरी ही दुनिया में, तेरी इजाजत बिना अन्य का प्रवेश बंद तू कर दे,
आखिर तक तेरी दुनिया में साथ देने वालों का संग तू बना ले।
हर हाल में खुश तू रहना, खुशी का आधार ना किसी पर छोड़ ले
तेरी खुशी, तेरी खामोशी पर है खुदा की निगरानी यकीन रख ले।
सतगुरू देवेंद्र घिया (काका)

Lyrics in English
kara bulaṁda aṁtasa kī āvāja kō itanā baṁdē, khudā kē pāsa vaha sīdhā pahum̐cē
tērī mastī bharī aṁtasa kī duniyā mēṁ, gama kī āvāja kō nā pahum̐canē dē।
jaba bhī cāhē, jī bhara-bhara kē tū dila mēṁ khudā kā saṁga tō kara lē,
tērē dila kī duniyā kā, khudā kō tō āśika pūrā banā lē।
tērī hī duniyā mēṁ, tērī ijājata binā anya kā pravēśa baṁda tū kara dē,
ākhira taka tērī duniyā mēṁ sātha dēnē vālōṁ kā saṁga tū banā lē।
hara hāla mēṁ khuśa tū rahanā, khuśī kā ādhāra nā kisī para chōḍa़ lē
tērī khuśī, tērī khāmōśī para hai khudā kī nigarānī yakīna rakha lē।




First...75967597759875997600...Last
Publications
He has written about 10,000 hymns which cover various aspects of spirituality, such as devotion, inner knowledge, truth, meditation, right action and right living. Most of the Bhajans are in Gujarati, but there is also a treasure trove of Bhajans in English, Hindi and Marathi languages.
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall
Pediatric Oncall